चित्रकूट में लड़कियों के यौन शोषण पर राहुल गांधी का सवाल- क्‍या ये ही हमारे सपनों का भारत?

Published on BNI NEWS 2020-07-09 11:50:47

    • 09-07-2020
    • 1987 Views

    चित्रकूट में लड़कियों के यौन शोषण पर राहुल गांधी का सवाल- क्‍या ये ही हमारे सपनों का भारत?राहुल गांधी ने साधा निशाना.
    मंगलवार को एक निजी चैनल ने अपनी रिपोर्ट में चित्रकूट (Chitrakoot) के खदानों में ठेकेदारों व बिचौलियों के द्वारा गरीब लड़कियों के यौन शोषण का मामला उजागर किया गया था.

    नई दिल्‍ली. उत्‍तर प्रदेश के चित्रकूट में मौजूद खदानों में मजदूरी करने वाली गरीब लड़कियों के साथ पिछले दिनों यौन शोषण का केस सामने आया था. एक न्‍यूज चैनल ने इस पर एक स्‍पेशल रिपोर्ट दिखाई थी, जिसके बाद इस मामले की जांच शुरू की गई है. इस मामले पर अब कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने भी निशाना साधा है. उन्‍होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, 'अनियोजित लॉकडाउन में भूख से मरता परिवार...इन बच्चियों ने जिंदा रहने की ये भयावह कीमत चुकाई है. क्या ये ही हमारे सपनों का भारत है?'

    बता दें कि खदानों में यौन शोषण का मामला सामने आने के बाद डीएम शेषमणि पांडे (DM Sheshmani Pandey) ने पूरे मामले में मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए थे. साथ ही कहा था कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. चित्रकूट के जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय ने ट्वीट कर कहा था, 'अभी-अभी मैंने चैनल पर प्रसारित विशेष रिपोर्ट को देखा, वर्णित घटना क्रम की गहन जांच करने के लिए मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश कर दिए हैं, इस निंदनीय कृत्य मे जो भी दोषी पाया जाएगा उसके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी तथा किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा.'

    दरअसल मंगलवार को एक निजी चैनल ने अपनी रिपोर्ट में चित्रकूट के खदानों में ठेकेदारों व बिचौलियों द्वारा गरीब लड़कियों के यौन शोषण का मामला उजागर किया गया था. रिपोर्ट में दिखाया गया था कि लड़कियों को मजदूरी के लिए यौन शोषण का शिकार होना पड़ता है. ठेकेदार और बिचौलिए इन लड़कियों को मजदूरी नहीं देते. मजदूरी पाने के लिए इन्हें अपने जिस्म का सौदा करना पड़ता है. इनकार करने पर मजदूरी नहीं मिलती.

    दिल्ली महिला आयोग की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने ट्वीट कर योगी आदित्यनाथ सरकार से मामले में तुरंत सख्त कार्रवाई करने की मांग की. उन्होंने लिखा, "उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में 10 से 18 साल की बच्चियों के साथ खदानों में काम के बहाने दरिंदगी की जा रही है. ऐसा कैसे हो सकता है कि इन नन्ही बच्चियों को इस तरह नोचा जा रहा है और प्रशासन को भनक तक नहीं है? बेहद शर्मनाक! योगी आदित्‍यनाथ जी, तुरंत सख़्त ऐक्शन करवाएं!"