28 जून से शुरू होगी अमरनाथ यात्रा:56 दिन चलेगी बाबा बर्फानी धाम की यात्रा

Published on BNI NEWS 2021-03-14 14:13:09


  • Notice: Undefined variable: news_heading_details in /home/suratxyz/indiaupdate.in/websitelayout2/detail.php on line 613

    • 14-03-2021
    • 1544 Views

    कोविड-19 प्रोटोकॉल और राज्य सरकार की ओर से जारी SOP का पालन करते हुए यात्रा के प्रबंध किए जाएंगे। 13 साल से कम के बच्चे और 75 से ऊपर के बुजुर्ग यात्रा नहीं कर सकेंगे।

    लगातार दो साल के मुश्किलों के बाद इस साल अमरनाथ यात्रा पूरे 56 दिन चलेगी। 28 जून (आषाढ़ चतुर्थी) से शुरू होकर यात्रा 22 अगस्त (श्रावण पूर्णिमा) तक चलेगी। 2019 में यात्रा बीच में रोक दी गई थी और 2020 में कोरोना के चलते सीमित यात्रा हुई थी। खास बात यह है कि इस बार सभी अखाड़ा परिषदों, आचार्य परिषदों को यात्रा के लिए विशेष न्योता भेजा जाएगा। साथ ही श्रीनगर से पवित्र गुफा तक हेलीकॉप्टर सुविधा भी यात्रियों को उपलब्ध होगी।

    यही नहीं, यात्रियों का दुर्घटना बीमा भी मौजूदा 3 लाख से बढ़ाकर 5 लाख कर दिया गया है। इस बार रोजाना प्रतिरूट 7500 की जगह 10 हजार यात्रियों को अनुमति दी जाएगी। यात्रा के रास्ते पर स्थायी आश्रय-विश्रामस्थल, हेल्थकेयर सेंटर और कम्युनिटी किचन बनाने पर भी विचार हो रहा है। संभागीय आयुक्तों को इसके लिए स्थान चिन्हित करने के भी निर्देश दिए गए हैं। शनिवार को श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड की मीटिंग में यात्रा की तारीख तय करने के साथ ही कई महत्वपूर्ण फैसले किए गए।

    1 अप्रैल से शुरू होगा रजिस्ट्रेशन
    कोविड-19 प्रोटोकॉल और राज्य सरकार की ओर से जारी SOP का पालन करते हुए यात्रा के प्रबंध किए जाएंगे। 13 साल से कम के बच्चे और 75 से ऊपर के बुजुर्ग यात्रा नहीं कर सकेंगे। अग्रिम रजिस्ट्रेशन 1 अप्रैल से शुरू होगा।

    यह सुविधा देशभर में पंजाब नेशनल बैंक, जम्मू एंड कश्मीर बैंक और यस बैंक की 446 तय ब्रांच पर उपलब्ध होगी। पहली बार श्रीनगर से अमरनाथ गुफा तक हेलीकॉप्टर सेवा होगी। इसके लिए पहलगाम डेवलपमेंट अथॉरिटी को 4 हेलीपैड के निर्माण का निर्देश दिया गया है। बालटाल से डोमेल के बीच 2.75 KM यात्रा मार्ग पर बैटरीचलित कार सुविधा भी होगी। श्राइन बोर्ड हेलीकॉप्टर और बैटरी कार के किराये पर विचार कर रहा है। यात्रा के रास्ते पर श्राइन बोर्ड के दफ्तरों और गुफा क्षेत्र में यात्री 5 और 10 ग्राम के चांदी के विशेष सिक्के खरीद सकेंगे।

    अखाड़ों और आचार्य परिषदों को दिया जाएगा न्योता
    बैठक की अध्यक्षता कर रहे उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने निर्देश दिया कि सभी अखाड़ों और आचार्य परिषदों को न्योता दिया जाए। देश के सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों पर रजिस्ट्रेशन के काउंटर खाेलने का प्रयास हो। ताकि लोग ज्यादा से ज्यादा संख्या में जुड़े। पवित्र गुफा में सुबह और शाम की आरती के लाइव टेलीकास्ट का भी फैसला किया गया है।
    जम्मू में राजभवन में बोर्ड की 40वीं मीटिंग में उप राज्यपाल के साथ मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रहमण्यम, वित्त कमिश्नर अटल दुल्लू और बोर्ड सदस्य स्वामी अवधेशानंद गिरि, डीसी रैना, पंडित भजन सोपोरी, प्रो. अनीता बिल्लावारिया, डॉ. सुदर्शन कुमार, डॉ. सीएम सेठ, तृृप्ता धवन, प्रो. विश्वमूर्ति शास्त्री और डॉ. देवी प्रसाद शेट्‌टी मौजूद थे। अन्य अधिकारी वर्चुअल माध्यम से जुड़े थे।